फॉलो करें

हमारा ऐप डाउनलोड करें

57 घंटे से बिजली नहीं आने पर परेशान लोगों ने बिल्डर के खिलाफ की नारेबाजी

करीब 4000 सोसायटी निवासी बिजली न होने से हो रहे परेशान

बिजली न होने के कारण टावर नंबर 8 में एक लिफ्ट में दो बच्चे 45 मिनट तक फंसे रहे

जीरकपुर/अखंड लोक (संदीप सिंह बावा)

जीरकपुर। वीआईपी रोड पर स्थित सावित्री ग्रीन सोसायटी में बिजली न होने से परेशान सोसायटी के निवासियों ने बिल्डर के खिलाफ सुबह 11:00 रोष व्यक्त करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि उन्होंने लाखों रूपये खर्च करके इस सोसायटी में फ़्लैट लिया है लेकिन उसके बावजूद उन्हें मूलभूत सुविधाओं बिजली-पानी की समस्या से झूझना पड़ रहा है। सोसायटी में पिछले 57 घंटे से बिजली गुल होने से नाराज सोसायटी निवासियों ने सोसायटी के गेट को करीब दो घंटे बंद रखकर बिल्डर के खिलाफ जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया, स्थिति को देखते हुए सोसायटी के केयर टेकर की तरफ से मौके पर पुलिस को बुलाया गया। पुलिस की टीम ने मौके पर पहुंचकर सोसायटी के निवासियों को समझाया लेकिन सोसायटी निवासी नहीं माने। जिसके बाद सोसायटी के निवासियों और केयरटेकर के बीच मीटिंग हुई। मीटिंग में केयरटेकर ने शाम 7 बजे तक बिजली बहाल होने का आश्वासन दिया जिसके बाद लोगों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया। लेकिन शाम 7 बजे तक 57 घंटे बीत जाने के बाद भी सोसायटी में बिजली की सप्लाई नहीं हो सकी। बिजली न आने से लोगों को पानी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

2 दिन में दो बार फूंक चुका है ट्रांसफार्मर, बैकअप के लिए रखे गए जनरेटर भी दे रहे जवाब

प्रदर्शन कर रहे सोसायटी निवासी निहारिका शर्मा, गौरव, हरी कृष्णा मलिक, दिग्विजय ने बताया कि दो दिन में दो बार में बिजली के ट्रांसफार्मर फूंक गए है।सोमवार रात को ट्रांसफार्मर में जबरदस्त धमाके हुए और बिजली गुल हो गई। दो दिन लगातार ट्रांसफार्मर में आग लगी और फायर ब्रिगेड को बुलाना पड़ा। बिजली जाने की स्थिति में पावर बैकअप के लिए रखे गए जनरेटर सेट भी काम नहीं कर रहे। जबकि बिल्डर द्वारा सोसायटी में हर घर से मेन्टेन्स के नाम पर हजारों रूपये लिए जाते है। लेकिन फिर भी पावर बैकअप सिस्टम को दुरुस्त नहीं किया जा रहा है।

करीब 4000 सोसायटी निवासी बिजली न होने से हो रहे परेशान

सावित्री ग्रीन सोसायटी में 15 टॉवर बने है, हर टावर में 78 फ्लैट्स है। सोसायटी में 1150 फ़्लैट में करीब 4 हजार लोग रह रहे है। जिसमे छोटे बच्चे और बुजुर्ग भी शामिल है। पिछले 57 घंटों से इस सोसायटी के 4 हजार निवासी परेशान हो रहे है। भीषण गर्मी में बिना बिजली – पानी के लोगों का घरों में रहना मुश्किल हो गया है। सबसे ज्यादा समस्या छोटे बच्चों और बुजुर्गों को हो रही है।

होटलों में रूम लेकर रात गुजारने को मजबूर सोसायटी निवासी

सोसायटी में पिछले दो दिन से लाइट न आने से परेशान सोसायटी में रहने वाले कई लोग पिछले दो दिन से होटल में कमरा लेकर रात गुजार रहे है। लोगों का कहना है कि बच्चों को परेशानी हो रही है, छोटे बच्चे गर्मी बर्दाश्त नहीं कर पा रहे है। जिस कारण उन्हें बच्चों के लिए होटल में रात गुजारनी पड़ रही है। कई घरों में इन्वर्टर भी लगे है लेकिन वो भी जवाब दे गए।

बिजली न होने के कारण टावर नंबर 8 में एक लिफ्ट में दो बच्चे 45 मिनट तक फंसे रहे

प्रदर्शन कर रहे सोसायटी निवासियों का कहना है कि परसो शाम को बिजली जाने के बाद लिफ्ट बंद हो गई। इस दौरान टावर नंबर 8 में एक लिफ्ट में दो बच्चे 45 मिनट तक फंसे रहे। जिन्हे सोसायटी के लोगों ने बड़ी मुश्किल से लिफ्ट से बाहर निकला। इसके अलावा दो दिन से लिफ्ट नहीं चल रही है और सोसायटी में टॉप फ्लोर पर रहने वाले लोगों को सीढ़ियों से ऊपर चढ़ने और उतरने में समस्या हो रही है।

क्या कहना है सोसायटी निवासियों का?

इस बारे में बात करते हुए एडवोकेट दिग्विजय,बिल्डर ने सोसायटी के लिए लोड 3941 केवी का लोड सेशन करवा रखा जबकि सोसायटी में 10 हजार केवी की जरूरत है। लोड कम होने के कारण बिजली की तार और ट्रांसफार्मर फूंक रहे है। सोसायटी में हल्की तार डाल रखी है जो बार बार जल जाती है। इस बारे में बातचीत करते हुए समिति निवासी हर्षदीप
लाखों रूपये खर्च कर यहां घर लिया है। हर चौथे दिन परेशान होना पड़ता है। पिछले 7 साल से यही परेशनी झेलनी पड़ रही है। तीन दिन से पानी नहीं है दो दिन से बिजली नहीं है। बहुत मुश्किल हो रखा है। सोसायटी में बुरा हाल है। समिति की महिला मीनाक्षी गुलाटी ने बताया कि मेरे पति का लेफ्ट पार्ट पैरालिसिस है उनका ट्रीटमेंट चल रहा है। उन्हें सीढिया चढ़ना और उतरना मुश्किल हो रह है। लाइट न होने से लिफ्ट नहीं चल रही। परेशानी हो रही है बिजली -पानी के बिना।

सावित्री ग्रीन सोसायटी में सिंगल प्वाइंट मीटर है और पावरकॉम का काम मीटर तक बिजली पहुंचना है। हमारी तरफ से सप्लाई ठीक है और इसके आगे का काम बिल्डर है। वहां इंटरनल फाल्ट है उसमे पावरकॉम का कोई रोल नहीं है, बिजली नहीं आ रही तो उसके बिल्डर जिम्मेदार है।

सुरिंदर सिंह बैंस, एक्सईएन पावरकॉम

केबल जल गई है और हमने केबल मंगवा कर काम शुरू कर दिया। रात आठ बजे तक बिजली आ जाएगी, हम रिपेयर कर रहे है ।

यादविंदर शर्मा, बिल्डर का भाई

Akhand Lok News
Author: Akhand Lok News

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल