फॉलो करें

हमारा ऐप डाउनलोड करें

Delhi:करोड़ों के खर्च के बाद भी नहीं मिली जलभराव से निजात; Cm ने की बैठक तो Bjp ने लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

Delhi: Waterlogging problem not Solved even after spending crores, CM holds meeting, BJP alleges corruption

Delhi
– फोटो : Amar Ujala

विस्तार


दिल्ली नगर निगम ने इस साल नालों की सफाई और जलजमाव को रोकने के नाम पर 10 करोड़ से ज्यादा धनराशि खर्च करने का दावा किया है। दिल्ली सरकार अकेले नजफगढ़ नाले की साफ-सफाई पर प्रति वर्ष 11 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च करती है। एनडीएमसी अपने क्षेत्र में नालों की साफ-सफाई पर अतिरिक्त खर्च करती है। लेकिन सभी एजेंसियों के प्रयास धरे के धरे रह गए और शनिवार-रविवार की तेज बारिश में पूरी दिल्ली जलजमाव से जूझती रही। इसमें लुटियन दिल्ली से लेकर झुग्गी-झोपड़ी की कच्ची कालोनियां भी शामिल रहीं।  

प्रति वर्ष दिल्ली पुलिस सरकार को जलजमाव वाली जगहों की सूचना देती है। इस साल दिल्ली पुलिस ने 107 स्थानों की पहचान कर दिल्ली सरकार को इन स्थानों पर जलजमाव होने के प्रति सावधान किया था। आरोप है कि सरकार ने दिल्ली पुलिस की जानकारी पर उचित कार्रवाई नहीं की जिससे जलजमाव की भारी समस्या से जूझना पड़ रहा है।

कितना हुआ खर्च

दिल्ली सरकार अकेले नजफगढ़ नाले की सफाई पर प्रति वर्ष 11 करोड़ से अधिक रुपये खर्च करती है। जलकुंभी जैसी खरपतवार को हटाने से नालों से पानी का बहाव तेज हो जाता है। पिछले सप्ताह ही सौरभ भारद्वाज ने नजफगढ़ नाले का दौरा कर इसकी साफ-सफाई के काम का निरीक्षण किया था। दिल्ली नगर निगम के अंदर छोटे-बड़े कुल मिलाकर 20,159 नाले हैं। इसमें चार फीट की गहराई वाले 721 नाले भी शामिल हैं। दावा किया गया है कि अकेले इस सीजन में लगभग 10 करोड़ रूपये खर्च कर इनकी सफाई का काम पूरा हो गया है।   






Source link

Akhand Lok News
Author: Akhand Lok News

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल