फॉलो करें

हमारा ऐप डाउनलोड करें

बरसाती पानी की निकासी वाले पाइप के ऊपर निर्माण को लेकर बिल्डर और नगर कौंसिल आमने-सामने

जीरकपुर/अखंड लोक (संदीप सिंह बाबा)

जीरकपुर स्थानीय पीरमुछला क्षेत्र में बरसाती पानी की निकासी वाला पाइप के ऊपर निर्माण को लेकर बिल्डर तथा नगर कौंसिल आमने-सामने हो गए। जानकारी के अनुसार पीरमुछला क्षेत्र की पानी की निकासी का पाइप जो के पहले पीरमुछला की विभिन्न सोसाइटियों से होते हुए पिंक सिटी में से गुजरता हुआ इंपीरियल गार्डन सोसाइटी में से होता हुआ घगर में डाला गया है। उसे पाइप के साइज में अंतर होने के चलते बरसाती पानी बैक मारता हुआ पीरमुछला क्षेत्र में फैल जाता है। जिक्र योग्य है कि पीरमुछला क्षेत्र वाला पाइप पिंक सिटी से पहले तक बरसाती पानी की निकासी वाला पाइप करीब 5 फुट चौड़ा है और पिंक सिटी के अंदर यह करीब 2 फुट चौड़ा रह गया है।उसके आगे फिर बरसाती पानी की निकासी वाला पाइप करीब 5 फुट चौड़ा पाइप आ जाता है जो के इंपीरियल गार्डन से होता हुआ घगर में छोड़ गया है। इस मौके पर आसपास की सोसाइटियों के दर्जनों लोगों ने नगर कौंसिल जीरकपुर से गुहार लगाई की बरसाती पानी की निकासी के लिए पाइपलाइन के ऊपर किसी भी किस्म का निर्माण न होने दिया जाए। इस संबंधी एक पत्र नगर काउंसिल के कार्यकारी अधिकारी अशोक पथरिया को भी भेजा गया है। नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी के आदेशों पर नगर काउंसिल की एंक्रोचमेंट टीम ने बिल्डिंग इंस्पेक्टर शिवानी के साथ मौके का जायजा लिया। इस मौके पर समाजसेवी गुरु सेवक पूनिया, जसवीर सिंह, अमरिंदर सिंह, राजन जिंदल, प्रदीप सोनी, दिनेश साहनी,अंकुश उप्पल, प्रताप चंद और राहुल शर्मा मौजूद थे।

क्या कहना है समाजसेवी गुरसेवक पूनिया का

इस संबंधी बात करते हुए पीर मुछल्ला के समाजसेवी गुरुसेवक पूनिया ने कहा के क्षेत्र के लोग हमारे पास शिकायत लेकर आए थे की उनके घरों में बरसात के मौसम में पानी भर जाता है जिनका स्थाई हल करवाया जाए और पिंक सिटी में से होकर गुजरने वाले बरसाती पानी की निकासी वाले पाइप करीब 5 फीट चौड़ा डाला जाए। वह शिकायत हमने इकट्ठे होकर नगर कौंसिल जीरकपुर में दे दी है। उस शिकायत पर कार्रवाई करते हुए आज नगर कौंसिल की टीम भी मौके पर पहुंची उन्होंने बिल्डर को यह जगह खाली छोड़ने के लिए कहा क्योंकि पिंक सिटी के अंदर के अंदर बरसाती पानी की निकासी वाला जो पाइप है उसको बदले जाने संबंधी भी नगर कौंसिल जीरकपुर में प्रस्ताव पारित किया हुआ है लेकिन इसे खाली छोड़ने के लिए बिल्डर ने मना कर दिया है।

क्या कहना है बिल्डर शिवकुमार पवार का

इस संबंधी बात करते हुए पिंक सिटी के बिल्डर शिवकुमार पवार का कहना है कि यह प्लाट तीसरी जगह पर बिक चुके हैं और अब जो प्लाट का मालिक है वह इस जगह पर निर्माण कार्य शुरू कर रहा है। यह निजी प्रॉपर्टीज होने के चलते हम इसको खाली नहीं छोड़ सकते। यहां पर नगर काउंसिल द्वारा पहले ही नक्शे भी पास किया जा चुके हैं। जो स्वाति पानी की निकासी के लिए पाइप हमारी कॉलोनी में डाले गए हैं यह हमने अपने खर्चे पर ही डाले हैं और अब नगर कौंसिल के अधिकारियों को हमने यही कहा है कि आप चाहे तो बरसाती पानी की निकासी के लिए पाइप करीब 5 फीट चौड़े डाल दो लेकिन हम यह जगह खाली नहीं छोड़ सकते।

क्या कहना है नगर कौंसिल के प्रधान उदयवीर सिंह ढिल्लों का

इस संबंधी बात करते हुए नगर कौंसिल जीरकपुर के अध्यक्ष उदयवीर सिंह ढिल्लों ने कहा कि इस जगह पर पानी के कुदरती बहाव वाला नाला था जो के बिल्डर द्वारा आगे बिना बताए बेच दिया गया है। जिससे प्लाट के खरीददार का भी नुकसान है। कानून के अनुसार पानी के कुदरती बहाव को बंद नहीं किया जा सकता चाहे कोई भी उस जगह का मालिक ही क्यों ना हो। इसलिए इस जगह को खाली छोड़ना ही पड़ेगा।

क्या कहना है कार्यकारी अधिकारी अशोक पथरिया का

 

इस संबंध में बात करने पर नगर कौंसिल जीरकपुर के कार्यकारी अधिकारी अशोक पथरिया ने बताया कि जब तक सारे कागजात वह स्थिति का पूरा जायजा नहीं लिया जाता तब तक संबंधित प्लॉट पर कंस्ट्रक्शन बंद रखने के लिए कहा गया है।

Akhand Lok News
Author: Akhand Lok News

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल